Home Mantra Bagalamukhi beej mantra for strong protection

Bagalamukhi beej mantra for strong protection

17
0

बगलामुखी बीज मंत्र: लाभ और मुहुर्थ

दस महाविद्या मे से एक महाविद्या बगलामुखी माता, जिन्हें समस्त ब्रह्मांड की शक्ति का स्रोत माना जाता है। बगलामुखी देवी को संहार और रोकथाम की शक्ति के रूप में पूजा जाता है। बगलामुखी बीज मंत्र का जाप अत्यधिक शक्तिशाली माना जाता है और इससे कई लाभ प्राप्त होते हैं। यहा हम बगलामुखी बीज मंत्र, उसके प्रमुख लाभ और इस मंत्र के जाप के लिए उपयुक्त दिनों के बारे में जानकारी प्रदान करेंगे।

बगलामुखी बीज मंत्र

बगलामुखी बीज मंत्र अत्यंत सरल और शक्तिशाली है। यह मंत्र निम्नलिखित है:

॥ ह्लीं ॥ “HLREEM”

इस मंत्र में ‘ह्लीं’ बीज मंत्र है, जिसे देवी बगलामुखी की शक्ति और ऊर्जा का प्रतीक माना जाता है। इस मंत्र का नियमित जाप करने से व्यक्ति को विभिन्न आध्यात्मिक और सांसारिक लाभ प्राप्त होते हैं।

बगलामुखी बीज मंत्र के लाभ

  1. दुश्मनों से सुरक्षा: बगलामुखी बीज मंत्र का जाप करने से शत्रुओं से रक्षा होती है और उन्हें परास्त करने की शक्ति मिलती है।
  2. विवादों में विजय: कानूनी और व्यक्तिगत विवादों में सफलता प्राप्त होती है।
  3. मन की शांति: इस मंत्र का जाप मन को शांति और स्थिरता प्रदान करता है।
  4. नेगेटिव एनर्जी से सुरक्षा: नकारात्मक ऊर्जा और बुरी नजर से रक्षा होती है।
  5. आत्मविश्वास में वृद्धि: आत्मविश्वास और आत्मबल में वृद्धि होती है।
  6. धन और समृद्धि: आर्थिक स्थिति में सुधार होता है और धन की प्राप्ति होती है।
  7. सफलता और उन्नति: करियर और व्यवसाय में सफलता प्राप्त होती है।
  8. परिवारिक समृद्धि: परिवार में सुख, शांति और समृद्धि का वातावरण बनता है।
  9. स्वास्थ्य में सुधार: शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य में सुधार होता है।
  10. तंत्र और मंत्र की सिद्धि: तंत्र-मंत्र के कार्यों में सिद्धि प्राप्त होती है।
  11. दुष्ट आत्माओं से सुरक्षा: बुरी आत्माओं और अदृश्य बाधाओं से रक्षा होती है।
  12. संकटों का निवारण: जीवन में आने वाले संकटों का निवारण होता है।
  13. शांति और धैर्य: मन में शांति और धैर्य का विकास होता है।
  14. प्रतियोगी परीक्षाओं में सफलता: शैक्षणिक और प्रतियोगी परीक्षाओं में सफलता मिलती है।
  15. वाणी की शक्ति: वाणी में प्रभाव और आकर्षण बढ़ता है।
  16. आध्यात्मिक उन्नति: आत्मिक उन्नति और ज्ञान की प्राप्ति होती है।
  17. कुंडली दोषों का निवारण: कुंडली में मौजूद दोषों का निवारण होता है।
  18. अशुभ ग्रहों का प्रभाव कम होता है: कुंडली में अशुभ ग्रहों के प्रभाव को कम करता है।
  19. सकारात्मक ऊर्जा का विकास: जीवन में सकारात्मक ऊर्जा और वातावरण का विकास होता है।
  20. व्यापार में वृद्धि: व्यापार और व्यवसाय में उन्नति होती है।
  21. शारीरिक बल: शारीरिक शक्ति और सहनशक्ति में वृद्धि होती है।
  22. अवसाद से मुक्ति: मानसिक तनाव और अवसाद से मुक्ति मिलती है।
  23. समाज में प्रतिष्ठा: समाज में सम्मान और प्रतिष्ठा बढ़ती है।
  24. दुष्ट प्रवृत्तियों का नाश: नकारात्मक और दुष्ट प्रवृत्तियों का नाश होता है।
  25. संतान प्राप्ति: संतान सुख की प्राप्ति होती है।
  26. भय का निवारण: अनावश्यक भय और चिंता का नाश होता है।
  27. सपनों की प्राप्ति: जीवन में लक्ष्यों और सपनों की प्राप्ति होती है।
  28. योग और ध्यान में प्रगति: योग और ध्यान के अभ्यास में प्रगति होती है।
  29. अनुकूल विवाह योग: विवाह में आने वाली बाधाओं का निवारण होता है।
  30. सम्पूर्ण सुरक्षा: जीवन के प्रत्येक क्षेत्र में सम्पूर्ण सुरक्षा की प्राप्ति होती है।

बगलामुखी बीज मंत्र के जाप के लिए उपयुक्त मुहुर्थ

बगलामुखी बीज मंत्र का जाप किसी भी समय किया जा सकता है, लेकिन कुछ विशेष दिवस और समय अधिक फलदायी माने जाते हैं:

  1. अष्टमी और नवमी तिथि: देवी की पूजा के लिए ये दिन विशेष रूप से महत्वपूर्ण माने जाते हैं।
  2. पूर्णिमा और अमावस्या: ये दिन तांत्रिक साधनाओं और मंत्र जाप के लिए अत्यंत शुभ माने जाते हैं।
  3. गुरुवार: गुरु वार को देवी बगलामुखी की पूजा और मंत्र जाप करने से विशेष लाभ प्राप्त होता है।
  4. विशेष त्योहार और नवरात्रि: नवरात्रि और अन्य विशेष त्योहारों के दौरान इस मंत्र का जाप करना अत्यंत लाभकारी होता है।
  5. प्रत्येक सुबह और संध्या: प्रातःकाल और संध्या का समय मंत्र जाप के लिए उपयुक्त होता है, जब वातावरण शुद्ध और शांत होता है।
  6. किसी भी देवी की पूजा के लिये मंगलवार शुभ मुहुर्थ होता है।

बगलामुखी बीज मंत्र का जाप विधि

  1. शुद्धता: मंत्र जाप से पहले शारीरिक और मानसिक शुद्धता आवश्यक है।
  2. साफ और शुद्ध स्थान: मंत्र जाप के लिए एक साफ और शुद्ध स्थान का चयन करें।
  3. पीले वस्त्र: देवी बगलामुखी की पूजा में पीले वस्त्र धारण करना शुभ माना जाता है।
  4. ध्यान और एकाग्रता: मंत्र जाप के दौरान ध्यान और एकाग्रता बनाए रखें।
  5. माला का प्रयोग: मंत्र जाप के लिए रुद्राक्ष या स्फटिक माला का प्रयोग करें।
  6. संख्या: बगलामुखी बीज मंत्र का जाप कम से कम 108 बार करें।

अंत में

बगलामुखी बीज मंत्र एक अत्यंत शक्तिशाली और प्रभावी मंत्र है। इसका सही ढंग से और नियमित जाप करने से व्यक्ति को अनेक लाभ प्राप्त होते हैं। यह मंत्र दुश्मनों से रक्षा, मन की शांति, आर्थिक समृद्धि, स्वास्थ्य, और अन्य कई लाभ प्रदान करता है। उपयुक्त दिवस और समय पर इस मंत्र का जाप करने से इसके प्रभाव और भी अधिक बढ़ जाते हैं। बगलामुखी बीज मंत्र का जाप व्यक्ति के जीवन में सकारात्मक परिवर्तन लाने में सहायक होता है और उसे एक संतुलित, समृद्ध, और सुरक्षित जीवन प्रदान करता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here